Sunday, April 05, 2009

तुम को पाया है तो जैसे खोया हूँ ... मैं अगर कहूं ...

Expression of love has endless possibilities as in this Om Shanti Om number with Shah Rukh Khan and दीपिका पडुकोणे.

Sources:






तुम को पाया है तो जैसे खोया हूँ
कहना चाहूं भी तो तुमसे क्या कहूं
तुम को पाया है तो जैसे खोया हूँ
कहना चाहूं भी तो तुमसे क्या कहूं
किसी ज़बान में भी वह लव्ज़ ही नहीं
के जिनमे तुम हो क्या तुम्हें बता सकूं
मैं अगर कहूं तुमसा हसीं
कायनात में नहीं हैं कहीं
तारीफ़ यह भी तो सच है कुछ भी नहीं
तुम को पाया है तो जैसे खोया हूँ

शोकियों में डूबी यह अदाएं
चेहरे से झलकी हुई है
जुल्फ की घनी घनी घटाएं
शान से ढलकी हुई है
लहराता आँचल है जैसे बादल
बाहों में भरी है जैसे चांदनी
रूप की चांदनी ...
मैं अगर कहूं यह दिलकशी
हैं नहीं कहीं न होगी कभी
तारीफ़ यह भी तो सच है कुछ भी नहीं
तुम को पाया है तो जैसे खोया हूँ


तुम हुए मेहरबान
तो है यह दास्तान
तुम हुए मेहरबान
तो है यह दास्तान
अब तुम्हारा मेरा एक है कारवां
तुम जहाँ मै वहाँ


मैं अगर कहूं हमसफ़र मेरी
अप्सरा हो तुम या कोई परी
तारीफ़ यह भी तो सच है कुछ भी नहीं

1 comment:

K. Ramesh Babu said...
This comment has been removed by the author.