Sunday, October 03, 2010

प्यार हुआ चुपके से

Nice elaboration of how a woman feels when she recognizes she is in love.





दिल ने कहा चुपके से, यह क्या हुआ चुपके से?

... ♫ ♫ ♫ ♫ ...
[क्यों नये लग रहे, है ये धरती गगन
मै ने पूछा तो बोली यह पगली पवन
प्यार हुआ चुपके से, यह क्या हुआ चुपके से] - 2
तितलियों से सुना, ... ♫ ♫ ...
तितलियों से सुना, ... ♫ ♫ ...
मै ने किस्सा बाग़ का, बाग़ में थी एक कली
शर्मीली अनछुई एक दिन मनचला भंवरा आ गया
खिल उठी वह कली, पाया रूप नया
पूछती थी कली, कि मुझे क्या हुआ?
फूल हंसा चुपके से, प्यार हुआ चुपके से

... ♫ ♫ ♫ ♫ ...
मैंने बादल से कभी ... ♫ ♫ ... ओ ...
मैंने बादल से कभी यह कहानी थी सूनी
पर्वतों से एक नदी मिलने सागर से चली
झूमती, घूमती, हो, नाचती, डोलती
खो गयी अपने सागर में जाके नदी
देखने प्यार की ऐसी जादूगरी
चाँद खिला चुपके से, प्यार हुआ चुपके से
क्यों नये लग रहे, है यह धरती गगन
मै ने पूछा तो बोली यह पगली पवन
प्यार हुआ चुपके से, यह क्या हुआ चुपके से

2 comments:

Pratik Maheshwari said...

Sir, I saw your comment now. Thanks for kind words.
I would love to work together with you to further popularize lyrics in native languages.

I don't see your mail id on your profile so please write to me on my email id.

Thanks & Regards,
Pratik

Kajal Patel said...

Very Nice Post. Thanks
Old Romantic love songs